अंतर्राष्ट्रीय

नाश्ते से पहले फूंकता था गांजा अब लंदन में ड्रग्स के खिलाफ बनाई नीति, जानिए कौन है अधिकारी

लंदन। लंदन में अपनी तरह का एक अलहदा मामला सामने आया है। यहां के एक शीर्ष पुलिस अधिकारी ने नशीली दवाओं के खिलाफ नीति बनाई, लेकिन अधिकारी नाश्ते से पहले गांजा फूंकता था। दरअसल, लंदन के जूलियन बेनेट मेट्रोपॉलिटन पुलिस के एक सीनियर ऑफिसर थे। उन्होंने ही शहर में एंटी-ड्रग्स पॉलिसी लिखी थी। अब उनके ऊपर ड्रग्स लेने और गलत व्यवहार करने को लेकर कोर्ट में मामला चल रहा है।

जूलियन बेनेट पिछले 47 साल (साल 1976) से पुलिस फोर्स में अपनी सेवाएं से रहे थे। बेनेट के ऊपर आरोप है कि वो सुबह काम की शुरूआत करने से पहले नाश्ते में गांजा और LSD का सेवन करते थे। अधिकारी बेनेट ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार किया है, मगर इन सबके बीच जुलाई 2021 में उन्हें निलंबित कर दिया गया। उनके ऊपर ड्रग्स टेस्ट के लिए जरूरी सैंपल न देना का भी आरोप है.

कोर्ट में तीन सुनवाई का सामना कर रहा अधिकारी

गलत व्यवहार को लेकर कोर्ट में तीन सुनवाई का सामना कर रहे जूलियन बेनेट के साथ उनके फ्लैट में रहने वाली शीला गोम्स नाम की एक नर्स ने बताया कि अधिकारी नियमित तौर पर काम पर जाने और नाश्ता करने से पहले गांजा पीते थे। नर्स ने यह भी आरोप लगाया कि अधिकारी का फ्लैट अक्सर धुएं से इतना भरा होता था कि यह एम्स्टर्डम कॉफी शॉप जैसा दिखता था।

क्या अधिकारी ड्रग डीलर था?

शीला गोम्स ने कोर्ट को यह भी बताया है कि उसे लगता है कि अधिकारी बेनेट एक ड्रग डीलर भी थे। गोम्स ने यह भी दावा किया है कि बेनेट बेहद नियंत्रित करने वाला, चिंतित और आत्ममुग्ध करने वाला इंसान था। नर्स शीला गोम्स ने जुलाई 2020 में ही अधिकारी के ऊपर आरोपों की सूचना दी थी, जिसके बाद जांच शुरू की गई। यही नहीं गोम्स की ओर से पुलिस को रिपोर्ट देने के तीन दिन बाद ही बेनेट को एक सैंपल देने के लिए कहा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button